गुरुवार, 4 फ़रवरी 2010

मन

मन
खाली-खाली मन
मैंने तुम्हें याद किया
और
भर आया
मन

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें